Thursday, May 30Ujala LIve News
Shadow

मां कल्याणी ने दिए भक्तों को स्कंद माता के रूप में दर्शन

Ujala Live

मां कल्याणी ने दिए भक्तों को स्कंद माता के रूप में दर्शन

श्री नव संवत्सर मानव समिति कल्याणी देवी प्रयागराज के द्वारा मां कल्याणी देवी के परिसर में आयोजित 52 वीं संगीतमय श्री राम कथा के पंचम दिवस पर भक्तों को राम कथा का रसपान कराते हुए पूज्य व्यास डॉक्टर अनिरुद्ध जी महाराज ने भरत चरित्र पर दर्शन डालते हुए कहा कि भरत वास्तव में स्वयं में त्यागी है और भरत जी भारत देश के भरत में त्याग की भावना भर देते हैं
व्यास जी कथा सुनाते हुए आगे कहते हैं कि भरत जी राम की वनवास प्राप्त राजगद्दी को छोड़कर कहते हैं कि भोर होते ही मैं चला जाऊंगा जहां भगवान राम चले गए हैं और कहते हैं संपत्ति सब रघुपति के आहीं अर्थात सारी संपदा राम की है और यही संपदा ही भगवान राम के दर्शन में बाधक है इसीलिए इसे तत्काल छोड़ देना चाहिए और तब वशिष्ठ मुनि ने राय दिया की तिलक चंदन सब लेते चलो और वहीं राम जी का राजतिलक कर देंगे गुरु वशिष्ठ तीनों माताओं एवं भाई शत्रुघ्न को लेकर सारी सेना एवं प्रजा के साथ भारत की श्रृंगवेरपुर पहुंच गए और भरत कौ सेना सहित आते देख कर केवट ने सोचा कि या तो कोई शत्रु है! और यदि यह राम जी को मारने जा रहे हैं तो इन्हें रात्रि मैं ही समाप्त कर दूंगा और भरत के मुकाबले अपनी सेना को बहुत कमजोर देखते हुए निषाद राज ने अपनी सेना में ऊर्जा का संचार किया! निषाद राज के एक बुजुर्ग के द्वारा सलाह देने पर भरत जी से मिलने का निर्णय लिया और तमोगुणी, रजोगुणी, और सतोगुणी भोजन लेकर केवट ने भरत जी से मुलाकात की और परस्पर संवाद से संदेह दूर हुए और गुरु वशिष्ठ ने भरत जी को बताया कि यह निषाद राज केवट राम जी के मित्र हैं ऐसा सुनते ही भरत जी रथ से कूद पड़े और निषाद राज से गले मिले


और आगे व्यास जी ने बताया कि या रामचरितमानस समरसता का संदेश देती है
*मां कल्याणी देवी मंदिर धाम के अध्यक्ष सुशील कुमार पाठक एवं श्याम जी पाठक ने बताया कि मां कल्याणी देवी के धाम में आज नवरात्रि के पंचम दिवस पर मां कल्याणी का स्कंदमाता स्वरूप का श्रृंगार दर्शन किया गया और नित्या की भांति शाम 7:00 बजे से लेकर 11:00 बजे रात्रि तक राम कथा प्रातः 8:00 बजे से दोपहर 1 1:00 बजे तक शाम 4:00 बजे से शाम 7:30 बजे तक शतचंडी महायज्ञ और प्रातः 5:00 बजे से लेकर 11:00 बजे तक देवी माता का पूजन अर्चन एवं शाम 7:00 बजे प्रतिदिन महा आरती कराई जा रही है*
कथा का संचालन प्रवक्ता ओंकार नाथ त्रिपाठी ने किया
इस अवसर पर कृष्ण कुमार पाठक ,अनिल कुमार पाठक, महामंत्री सुबोध खन्ना, कोषाध्यक्ष रजत चढ़ा,राजेश केसरवानी, प्रवीण रस्तोगी, मुकेश पाठक, विक्रम सिंह , कुमार नारायण प्रकाश डालमिया, पुनीत वर्मा रामेश्वर प्रसाद केसरवानी,आनंद जी टंडन पप्पन भैया, पवन जी केसरवानी, अशोक खत्री, कुमुद सेठ, श्याम बाबू खलीफा मंडी, घनश्याम मौर्य, रतन अग्रवाल, आदि मैं आरती की और प्रसाद वितरण किया

Leave a Reply

Your email address will not be published.

× हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें