Tuesday, April 16Ujala LIve News
Shadow

SDM ज्योति मौर्या प्रकरण में भ्रष्टाचार के मामले की जांच की मांग समाजसेवी दिनेश तिवारी ने की

Ujala Live

SDM ज्योति मौर्या प्रकरण में भ्रष्टाचार के मामले की जांच की मांग समाजसेवी दिनेश तिवारी ने की

 

प्रयागराज।पिछले कई दिनों से पीसीएस ज्योति मौर्या और उनके पति आलोक मौर्या के संबंधों को लेकर मीडिया लगातार प्रतिदिन नए नए उजागर कर रहा है मगर जो उनके पति ने डायरी के माध्यम से जो खुलासा कर बताया कि ज्योति मौर्या ने अपने पद पर रह कर प्रतिदिन 6 लाख वसूली करती थी, जो उनके डायरी में डे by डे उल्लेख है। इसका मतलब है 24 दिन में एक करोड़ 80 लाख रुपए महीने की वसूली हो रही थी। किन लोगों से 5 सालों में लूटा है उनके कार्यों की जांच होनी चाहिए था। कितना लूटा ??मगर सिर्फ अवैध सम्बन्धों को लेकर मीडिया जगत मुखर है।अवैध कमाई पर क्यों मीडिया और उत्तर प्रदेश सरकार मौन है। एक भष्ट्राचारी अधिकारी के भष्ट्राचार कारनामे को मीडिया हाईलाइट नहीं कर रहा है। जनता भी शक के निगाह से देखने लगी है कि जितने भी PCS अफसर है क्या सब पद पर रह कर अवैध वसूली ही मुख्य ड्यूटी है।कमाई कर आलीशान बंगला, गाड़ी आदि का किला बनाते है। जनता का जमकर शोषण करते है।गरीब, असहाय,कमजोर व्यक्ति को न्याय समय पर नहीं मिलता है।उनकी सुनवाई नहीं होती है हर बच्चा बच्चा बोल रहा है।मेरे जानकारी में कई ईमानदार PCS अफसर का पूरा जीवन सादगी में बीत गया।उन अफसरों का कहना है PCS पद को कलंकित कर दिया है।प्यार मोहब्बत निजी मामला है जो उनके पति ने खुलासा किया वह चौकाने वाला विषय है अवैध कमाई की जांच होनी चाहिए।जनता की नजर में सही तथ्य सामने आना चाहिए। जनता तो सोच रही है योगी राज में PCS अफसर केवल वसूली के लिए जिलों और तहसीलों तथा जनकल्याण कारी विभागों में बैठाए जाते है।निश्चित तौर से ईमानदार पीसीएस अफसरों के जीवन को कलंकित करने का काम पीसीएस अफसर ज्योति मौर्या ने किया।

 

1 Comment

  • नितिन कुमार

    आज लगभग सभी सरकारी कर्मचारियों कमोबेश का यही हाल है। भ्रष्टाचार अपने चरम पर है। अधिकारी निरंकुश हो गये हैं, नेता अपनी पीठ थपथपाने में लगे हैं और जानता बेहाल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

× हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें