Tuesday, June 25Ujala LIve News
Shadow

नीट की परीक्षा में होनहार छात्र तस्मय चावला ने लहराया परचम,शिक्षक अमित त्रिपाठी को दिया सक्सेज होने का श्रेय

Ujala Live

नीट की परीक्षा में होनहार छात्र  तस्मय चावला ने लहराया परचम,शिक्षक अमित त्रिपाठी को दिया सक्सेज होने का श्रेय

छात्र तस्मय चावला 

प्रयागराज।नीट की परीक्षा में स्कैन एवं रिजल्ट को अन्य नेताओं को लेकर के जहां तमाम अटकारे लगाई जा रही है वहीं कुछ छात्र नीट की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों के लिए प्रेरणा स्रोत बने हुए हैं 10 में चावल इन्होंने नीट में 705 मार्क्स स्कोर किया उनका कहना है की ऑफलाइन कोचिंग करने की के लिए आवश्यक जो फीस थी उसको देने में मैं सक्षम नहीं था इसलिए मैं अपने आप से ही तैयारी कर रहा था नीट एग्जाम का निकलना मेरे लिए बहुत ही मुश्किल इसलिए था क्योंकि मेरा केमिस्ट्री में बहुत ही डाउट था केमिस्ट्री तैयार करने के लिए मैं जगह-जगह यूट्यूब चैनल पर लेक्चर सर्च करता रहता था।

शिक्षक अमित त्रिपाठी 

इस बीच मुझे अमित त्रिपाठी क्लासेस का भी लेक्चर मिला मैंने उसको पढ़ा और मुझे केमिस्ट्री समझ में आने लगी केमिस्ट्री में बहुत इंटरेस्ट आने लगा लेकिन यूट्यूब चैनल पर पूरा कंटेंट केमिस्ट्री का उपलब्ध नहीं था मैं अमित त्रिपाठी सर का नंबर यूट्यूब से लिया उनको कॉल किया उन्होंने बताया कि मैं अनअकैडमी प्रयागराज का एकेडमिक हेड हूं और वहीं पर केमिस्ट्री ऑफलाइन पढ़ता हूं मैं वहां पढ़ने जाना चाहता था लेकिन सक्षम नहीं था फीस देने में ऐसी एक दिन एक भैया से हमारी बात हुई केमिस्ट्री की वजह से नीट में होने वाली प्रॉब्लम्स के बारे में मैंने यह भी बताया कि अमित त्रिपाठी सर एक है उनकी क्लास करने पर मुझे केमिस्ट्री की सारी प्रॉब्लम दूर हो जा रही है उन्होंने बताया एक अमित सर है जिसे मैं पढ़ता हूं उनका मैं सब्सक्रिप्शन लिया हुआ है टीजीटी और पीजीटी की तैयारी के लिए मैंने कहा कि भैया मुझे वीडियो दिखा दीजिए जब उन्होंने वीडियो भेजा तो वह अमित सर ही थे भैया के सब्सक्रिप्शन से ही मैं अमृतसर से पढ़ना शुरू कर दिया केमिस्ट्री समझ में आने से मेरा फिजिक्स और बायो में भी कॉन्फिडेंस वापस लौट आया मैं बीच में अमित सर को डब्स के लिए संपर्क करता था और डाउट्स इस तरह से बताते थे की एक डाउट से सारा का सारा चैप्टर ही क्लियर हो जाता था फाइनली मैं केमिस्ट्री में 180 आउट ऑफ 180 स्कोर किया है और नीट में 705 शायद अमित सर मुझे यूट्यूब पर नहीं मिलते तो मेरा नेट निकालने का सपना पूरा नहीं हो पता ऐसे बहुत सारे विद्यार्थी जो हमारे नीट की तैयारी करने वाले अभ्यर्थियों के लिए मार्गदर्शक हैं प्रेरणा स्रोत हैं आर्थिक रूप से कमजोर होने की वजह से कोचिंग की फीस भरने में तो सक्षम नहीं है लेकिन यूट्यूब के माध्यम से पढ़कर नीट एग्जाम में इतना बड़ा स्कोर करना या साबित करता है कि अब तकनीकी के जिस दौर से हम गुजर रहे हैं हर बच्चा अपना सपना पूरा कर सकता है चाहे कोचिंग की फीस देने में सक्षम हो या ना हो

Leave a Reply

Your email address will not be published.

× हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें