Wednesday, February 21Ujala LIve News
Shadow

संजय सत्येंद्र पाठक ने फिर रचा इतिहास, पांचवी बार विजयराघवगढ़ विधानसभा पर किया कब्जा

Ujala Live

संजय सत्येंद्र पाठक ने फिर रचा इतिहास, पांचवी बार विजयराघवगढ़ विधानसभा पर किया कब्जा

 

विरासत में मिली राजनीति, जिला पंचायत से शुरु हुआ था राजनैतिक सफर, जनसेवक बनकर करते हैं जनता की सेवा
कटनी। विजयराघवगढ़ को पूरे देश में पहचान दिलाने वाले संजय सत्येंद्र पाठक ने एक बार फिर से इतिहास रचा और पांचवी बार चुनाव में विजय हासिल करते हुए विधायक बने।राजनीति के चाणक्य माने जाने वाले संजय पाठक ने 25 हजार से अधिक मतों से जीत हासिल करके कांग्रेस प्रत्याशी को शिकस्त दी।
कटनी के पाठक वार्ड निवासी पंडित सत्येंद्र पाठक और श्रीमती निर्मला पाठक के पुत्र संजय पाठक का जन्म 31 अक्टूबर 1970 को जबलपुर में हुआ था। इन्होंने राजनीति से स्नातकोत्तर की शिक्षा प्राप्त की और छात्र जीवन से ही राजनीति में सक्रिय हो गए थे। संजय पाठक 1989 से छात्र राजनीति में सक्रिय हुए।


जिला पंचायत अध्यक्ष के रूप में की शुरुआत,
1991 में जिला युवक कांग्रेस ग्रामीण जिला जबलपुर के महामंत्री बने और उसके बाद 1996 में जिला कांग्रेस कमेटी कटनी के महामंत्री बने। 2000-2005 में संजय पाठक ने जिला पंचायत कटनी के अध्यक्ष पद पर कब्जा किया। उस समय श्री पाठक के पिता पंडित सत्येंद्र पाठक विजयराघवगढ़ विधानसभा के विधायक थे। 2008 में विजयराघवगढ़ विधानसभा से उन्होंने चुनाव लड़कर जीत हासिल की।


उत्तराखंड की त्रासदी में बने थे मसीहा,
2013 में उत्तराखण्ड/केदारनाथ त्रासदी में राहत कार्य के दौरान सैंकड़ों लोगों की जान बचाये जाने पर उत्तराखण्ड के राज्यपाल द्वारा संजय पाठक को सम्मानित किया गया था। 2013 में चौदहवीं विधानसभा में इण्डियन नेशनल कांग्रेस की ओर से सदस्य निर्वाचित हुए लेकिन दिनांक 31 मार्च, 2014 को सदस्यता से उन्होंने त्याग-पत्र दे दिया था और भाजपा का दामन थाम लिया था।


2014 में भाजपा में आए थे पाठक
अगस्त, 2014 के उप चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की ओर से श्री पाठक पुन: सदस्य निर्वाचित हुए। संजय पाठक को 30 जून, 2016 को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रि-परिषद में राज्य मंत्री के रूप में शामिल किया गया। विजयराघवगढ़ विधानसभा में उप-चुनाव मिलाकर संजय पाठक ने लगातार चार चुनाव जीते हैं। इनसे पूर्व संजय पाठक के पिता पंडित सत्येंद्र पाठक यहां से विधायक रह चुके हैं जो केबिनेट मंत्री भी थे।
सबसे अमीर विधायक हैं संजय
संजय पाठक मध्य प्रदेश के सबसे अमीर विधायक हैं जो पूर्व में 2016 से 2018 तक शिवराज सिंह चौहान सरकार में मंत्री थे। तेज तर्रार और अपनी दबंग छवि के लिए मशहूर विधायक संजय पाठक एक बेहतर जन सेवक माने जाते हैं।
तन, मन, धन से करते हैं जनता की मदद,
खास बात यह है कि क्षेत्र में किसी को भी परेशानी होती है तो संजय पाठक तन, मन, धन से मदद करते हैं। इन्हें क्षेत्रवासी सुख दुख का साथी मानते हैं। संजय पाठक और उनके परिवार के सदस्य कई सामाजिक और पौराणिक गतिविधियों में शामिल हैं और समाज को आगे बढ़ने में सहायता करने के साथ-साथ शैक्षिक क्षेत्र को भी प्रोत्साहित कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

× हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें