Thursday, May 30Ujala LIve News
Shadow

जमीन से लेकर आसमान तक दिखा भारत का शौर्य,संगम बना साक्षी

Ujala Live

जमीन से लेकर आसमान तक दिखा भारत का शौर्य,संगम बना साक्षी

रिपोर्ट-पीयूष पांडेय

प्रयागराज। संगम नगरी प्रयागराज में 8 अक्टूबर को भारतीय वायुसेना की 91 वीं वर्षगांठ के मौके पर आयोजित होने वाली परेड और एयर शो को लेकर फुल ड्रेस रिहर्सल मध्य वायु कमान मुख्यालय बमरौली और संगम में आयोजित की गई।

परेड मेंभारतीय वायुसेना के जांबाज जवानों ने अपने अदम्य साहस और शौर्य का प्रदर्शन किया। सबसे पहले विंग कमांडर अशोक ने पैरा हैंग ग्लाइडर से 200 फीट की ऊंचाई से हैरतअंगेज
प्रदर्शन किया। जिसके बाद.पैरा मोटर्स से भी वायुसेना के जाबांजों ने करतब दिखाए।

आसमान में वायुवीरों के इस प्रदर्शन को देखकर दर्शक दीरघा में बैठा हर शख्स रोमांच से भर गया।
जिसके बाद दस स्काई पैराजंपर ने आठ हजार फीट की ऊंचाई से ए-32 विमान से उतरकर लोगों में रोमांच और जोश भर दिया

 

इसके बाद ट्रेनी वायु योद्धाओं ने चंद मिनटों में कार के पार्ट को खोलकर उसे जोड़ने का हैरत अंगेज कारनामा कर दिखाया।
वायु सैनिकों के शानदार प्रदर्शन के बाद बिसोनको की परेड भी जिसमें 6 बटालियन ने हिस्सा लिया। खास तौर पर पहली बार महिला अग्नि वीरों की एक बटालियन ने इसमें अपने अदम्य साहस और शौर्य का प्रदर्शन किया।


वायु सेवा के बैंध की धुनों पर परेड आयोजित की गई। फुल ड्रेस रिहर्सल परेड की सलामी वायु अफसर कमांडिंग इन चीफ मुख्यालय मध्य वायु कमान एयर मार्शल आर जी के कपूर ने ली। उन्होंने वायु सैनिकों को देश की एकता अखंडता और स्वतंत्रता की रक्षा की शपथ भी दिलाई।

परेड के बाद ड्रोन से तिरंगे और एयरफोर्स के झंडे का भी शानदार प्रदर्शन किया गया। कार्यक्रम के अंत में वायु सेवा के जवानों ने राइफल के साथ ड्रिल का शानदार प्रदर्शन कर लोगों को आश्चर्यचकित कर दिया।


वायुसेना के मध्य कमान बमरौली में परेड के बाद दोपहर संगम में एयर शो भी रिहर्सल आयोजित की गई।

जिसमें भारतीय वायुसेना के इस एयर शो में विंटेज विमान टाइगर मॉथ, हार्बट ट्रेनर, ट्रांसपोर्ट जहाज सी वन थर्टी, आईएल 78, चेतक हेलीकॉप्टर और रुद्र हेलीकॉप्टर देखने को मिला। भारतीय वायुसेना के फाइटर प्लेन देश में बने लोकप्रिय जहाज तेजस देखने को मिला जिसे देख लोगों वाह वाह किया। कारगिल में दुश्मन के छक्के छुड़ाने वाला मिराज 2000 भी यहां आसमान में अपने करतब दिखाया।


जबकि भारतीय वायुसेना में अपनी आयु पूरी कर चुके मिग-21 का आखिरी शो भी देखने को मिला।
फ्रांस से खरीदे गए राफेल जहाज भी लोगों को इस एयर शो में देखने को मिला। इसके अलावा कोबरा और सू थर्टी जहाज भी देखने को मिला।

आकाशगंगा की टीम के स्काई डाईवर्स वायुसेना के विमानों से संगम तट पर उतरकर लोगों में भारतीय वायुसेना के प्रति जज्बा और रोमांच भरने में कामयाब रहे। इसके जरिए भारतीय वायुसेना अपनी सैन्य ताकत को प्रदर्शित किया।संगम क्षेत्र में एयर शो को लेकर भी व्यापक तैयारियां की गई ।

पूरे संगम क्षेत्र को नो फ्लाई जोन घोषित कर दिया गया।इसके साथ ही पूरे एरिया को भारतीय वायु सेवा ने अपने नियंत्रण में ले रखा है।संगम तट पर अक्षय वट जाने वाले मार्ग के पास भारतीय वायुसेना का नियंत्रण कक्ष यानि एयर ट्रैफिक कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। इसके ठीक ऊपर बुलेट प्रूफ केबिन बनाई गई है।जिसमें सेना के उच्च अधिकारी बैठकर एयर शो देखेंगे।

 

एयरशो के बाद जाम के झाम में फंसे शहरी

यातायात व्यवस्था हुई धड़ाम। देश के गौरव के पल सहेजने के लिए पहुंचे शहरियों ने जमकर देश भक्ति के नारे लगाए।

लेकिन जब एयरशो खत्म हुआ तो शहरी जाम में फंसे रह गए। 2 घण्टे जाम से जूझने के बाद लोग घर पहुंचे।इस दौरान शहर के संगम जाने वाले हर रास्ते पर जाम देखा गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

× हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें