Sunday, July 21Ujala LIve News
Shadow

राजभवन के मेहमान बने प्रयागराज शहर दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र के 51 दलित एवं मलिन बस्तियों के बच्चे

Ujala Live

राजभवन के मेहमान बने प्रयागराज शहर दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र के 51 दलित एवं मलिन बस्तियों के बच्चे

प्रयागराज की झुग्गी झोपड़ी के बच्चों ने मंत्री नन्दी के साथ राजभवन में राज्यपाल से की मुलाकात, प्राप्त किया आशीर्वाद,209 परिवारों के बच्चों समेत 900 लोगों ने किया राजभवन का भ्रमण,राजभवन में किया दोपहर का भोजन

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ से 200 किलोमीटर दूर प्रयागराज शहर दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न दलित एवं मलिन बस्तियों के झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले बच्चों के लिए घर से बाहर निकलना, वाटर पार्क में जॉकर मस्ती करना और राजभवन में राज्यपाल का मेहमान बन कर राज्यपाल से मिलना किसी सपने से कम नहीं था, लेकिन उत्तर प्रदेश सरकार के औद्योगिक विकास मंत्री एवं प्रयागराज शहर दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र के विधायक नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने सपने को हकीकत में बदलते हुए अपने विधानसभा क्षेत्र की 51 दलित एवं मलिन बस्तियों के बच्चों एवं उनके अभिभावकों समेत करीब 900 लोगों को राजभवन का मेहमान बनाया।


मंत्री नन्दी के नेतृत्व में झुग्गी झोपड़ी के सैकड़ो बच्चों ने राजभवन में भ्रमण के साथ ही राज्यपाल का आशीर्वाद प्राप्त किया। राज्यपाल ने भी दलित एवं मलिन बस्ति के बच्चों एवं उनके अभिभावकों के प्रति पूरा स्नेह बरसाते हुए उन्हें दिन भर राजभवन में एक-एक स्थान का भ्रमण करने की इजाजत दी। राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल का परम स्नेह, राजभवन का वैभव और शानदार सजावट एवं व्यवस्था देख छोटे-छोटे बच्चे खुशी से फूले नहीं समा रहे थे। जिन बच्चों के लिए अपने जनपद में किसी बड़े आदमी के बंगले में जाकर वहां मस्ती करना सपना था, उन बच्चों को जब उत्तर प्रदेश में संविधान के सर्वोच्च स्थान राजभवन में मस्ती करने और बहुत कुछ जानने, व समझने का मौका मिला तो फिर उनकी खुशी का ठिकाना नहीं रहा।

राजभवन का मेहमान बनने के पूर्व प्रयागराज के प्रयागराज शहर दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न दलित एवं मलिन बस्तियों के झुग्गी झोपड़ी के बच्चों एवं उनके अभिभावकों ने शुक्रवार की शाम लखनऊ के मुंन्शी पुलिया स्थित सिटी कार्ट शॉपिंग माल में दीपावली की खरीददारी की। कपड़े व अन्य सामान खरीदे। मंत्री नन्दी और प्रयागराज की पूर्व महापौर अभिलाषा गुप्ता नन्दी ने बच्चों को खरीददारी करवाई। मंत्री नन्दी और पूर्व महापौर ने कपड़े पसंद करने में बच्चों की मदद की। शॉपिंग करने के बाद बच्चों ने परिवार के साथ आनन्दी मैजिक वर्ल्ड वाटर पार्क के होटल में रात्रि विश्राम किया। वहीं सुबह वाटर पार्क में जमकर मस्ती की। फव्वारे के साथ ही झूलों का भी आनन्द लिया। मंत्री नन्दी भी इस दौरान मौजूद रहे। पूर्व महापौर अभिलाषा गुप्ता नन्दी ने भी बच्चों का उत्साहवर्धन किया। आनन्दी मैजिक वर्ल्ड वाटर पार्क में मस्ती करने के बाद बच्चे राजभवन पहुंचे जहां उन्होंने राज्यपाल से मुलाकात की।

*आगे बढ़ना है तो लक्ष्य निर्धारित करें और संकल्प लेंः राज्यपाल*

*बच्चों को आगे बढ़़ाना, महिलाओं की समस्याओं का समाधान एक चुने हुए जनप्रतिनिधि की जिम्मेवारी होती हैः राज्यपाल*

*जनप्रतिनिधि को अपने मतदाताओं के साथ परिवार जैसा व्यवहार करना चाहिएः राज्यपाल*

राजभवन में पहुंचने के बाद प्रयागराज शहर दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र की 51 दलित एवं मलिन बस्तियों के बच्चों ने राज्यपाल का आर्शीवाद प्राप्त किया। मंत्री नन्दी के साथ ही प्रयागराज महानगर अध्यक्ष राजेंद्र मिश्रा, पूर्व महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी ने राज्यपाल का स्वागत एवं अभिनन्दन किया। दलित एवं मलिन बस्ती के सैकड़ों बच्चों के राजभवन भ्रमण को लेकर राज्यपाल ने प्रसन्नता व्यक्त की। बच्चों का उत्साहवर्धन करते हुए राज्यपाल ने कहा कि आज पूरा दिन आपके लिए राजभवन है। भ्रमण करिए और बहुत बारीकी से सब कुछ देखिये। यहां गौशाला, उद्यान भवन, म्यूजियम, गांधी हॉल, अन्नपूर्णा हॉल और उद्यान भी है। जिसका आनन्द लीजिए। राज्यपाल ने कहा कि भ्रमण के दौरान केवल मस्ती मत कीजिए, और देखिए नहीं बल्कि अपने ज्ञान का भी विस्तार कीजिए। जो देखिए, उसे घर जाकर कागज पर लिखिए कि वहां क्या देखा, क्या समझा आदि। राज्यपाल ने बच्चों से कहा कि अगर आगे बढ़ना है, कुछ करना है तो अपना लक्ष्य निर्धारित करें और संकल्प लें कि दुनिया कुछ भी कहे, लेकिन मुझे आगे बढ़ना है। अपने लक्ष्य को पूरा करना है। डॉक्टर, इंजीनियर, आईएएस, पीसीएस बनना है।
राज्यपाल ने मंत्री नन्दी से कहा कि इस तरह के टूर में दलित एवं मलिन बस्ती व झुग्गी झोपड़ी के बच्चों के साथ ही बड़े-बड़े स्कूलों के बच्चों को भी साथ में जोड़ देना चाहिए। जिससे बच्चों की सोच का एक्सपोजर होगा।
राज्यपाल ने कहा कि मतविस्तार का ध्यान रखना, वहां के बच्चों को आगे बढ़़ाने का प्रयास करना, महिलाओं की समस्याओं को जानना और समस्याओं का समाधान करना, निदान करना एक चुने हुए व्यक्ति की जिम्मेवारी होती है। जो जनप्रतिनिधि अपनी जिम्मेवारी भूल जाते हैं, उन्हें जनता भी भूला देती है। जनप्रतिनिधि को अपने मतदाताओं के साथ परिवार जैसा व्यवहार करना चाहिए। जहां परिवार भाव होता है, वहां लोगों को कुछ बताने और समझाने की जरूरत नहीं होती है।

बच्चों को राजभवन घुमाने की प्रेरणा राज्यपाल से ही मिली- नन्दी,अभावों में बीता है जीवन इसलिए गरीब परिवार के दुख-दर्द को समझते हैंः नन्दी,इस अवसर पर मंत्री नन्दी ने राज्यपाल को अवगत कराते हुए कहा कि प्रयागराज शहर दक्षिणी विधान सभा की 51 बस्तियों के 600 बच्चे और उनके अभिभावक राजभवन घूमने के लिए आए हैं। मंत्री नन्दी ने कहा कि कल सभी ने एक मॉल में दीपावली की शॉपिंग की और आज सुबह वॉटर पार्क का आनन्द लिया!
मंत्री नन्दी ने कहा कि केंद्रीय मंत्री दर्शना बेन जर्दोश जी के साथ पहली बार आपसे मिले थे और आपको यह अवगत कराया था कि दीपवाली पर बच्चों को शॉपिंग कराते हैं! तब आपने कहा था कि शॉपिंग के साथ ही बच्चों को सैर भी कराना चाहिए! इस यात्रा के केंद्र में आपकी यही प्रेरणा और मार्गदशर्शन है! बच्चों के प्रति आपका स्नेह और महिलाओं को सक्षम बनाने की आपकी मंशा हम सबके लिए अनुकरणीय है! आपका व्यक्तित्व स्वयं माँ की ममता और करुणा से भरा हुआ है।
ज्यादातर बच्चे कभी प्रयागराज से बाहर नहीं गये।शॉपिंग, वॉटर पार्क की मस्ती, राजभवन भ्रमण और आपका बहुमूल्य आशीर्वाद इन बच्चों और उनके परिवार के लिए यादगार है!
मंत्री नन्दी ने कहा कि हमारे पिताजी फोर्थ क्लास इम्प्लाई थे! मां घर पर सिलाई करती थीं! दीवाली में नए कपडे और मिठाई हमारे लिए किसी सपने जैसे थे। इन बच्चों की मुस्कराहट और इनके अभिभावकों की खुशियाँ बेशकीमती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

× हमारे साथ Whatsapp पर जुड़ें